गोंद के लड्डू । Gond ke laddu । गोंद के लड्डू खाने के इतने फायदे की जान कर आप भी हो जायेंगे हैरान । गोंद के लड्डू बनाने की रिसीपी ।। New recipe 2022 ।।

गोंद के लड्डू । Gond ke laddu । गोंदके लड्डू खाने के इतने फायदे की जान कर आप भी हो जायेंगे हैरान । गोंद के लड्डू बनाने की रिसीपी ।।

दोस्तो आज हम बात करने वाले हैं गोंद के लड्डू बनाने के बारे में ,और इस से होने वाले लाभकारी गुणों के बारे में,साथ ही इसे हमे क्यों खाना चाहिए और कब खाना चाहिए ,सारी जानकारी आप को इस ब्लॉग में मिलने वाली है तो कृपया आप इस ब्लॉग पर बने रहें ..!!

दोस्तो जैसा की आप जानते ही हैं आज कल सर्दियों का मौसम चल रहा है, ऐसे हम अगर गोंद के लड्डू पूरे दिन भर अगर एक भी खा ले तो हमे ये सर्दियों से बचाने में सक्षम है ,क्यों की गोंद की तासीर गरम होती है …….

ऐसे में हम अगर अपनी रोज की डाइट में इसे थोड़ी मात्रा में ले तो हमारे शरीर में गर्मी बनी रहती है, या यूं कहें कि हमे सर्दियों का असर कम होता है , हैं इसे गरम पानी के साथ या फिर इस से बनाये गए लड्डू गोंद के लड्डू के रूप में इस का सेवन कर सकते हैं,इस के फायदे तो इतने हैं की आप सोच भी नही सकते

गोंद का सेवन करने का तरीका

  • हम इसे लड्डू बना के खा सकते हैं (गोंद के लड्डू)
  • हम इसे आंटे और सूजी की बनी हुई पंजीरी में मिला कर खा सकते हैं
  • मूंग फली और गुड़ से बनी हुई पापड़ी ( चिक्की ) में भी मिला कर खा सकते हैं

. या फिर इसे आप neet ( ऐसे ही ) खा सकते हैं

सवाल आता है की गोंद हमे कहा से मिलेगा

दोस्तों वैसे तो हमें गोंद काफी सारे पेड़ों से मिल जाता है पर खाने के योग्य गोंद कुछ ही पेड़ों से मिलता है, और उन पेड़ो के नाम जैसे की कुछ इस प्रकार हैं…

..आम के पेड़

..बबूल के पेड़

…पीपल का पेड़

…नीम का पेड़

…ढाक ( पलाश) का पेड़

दोस्तो इस बात को जानकर आप को और भी हैरानी होगी की हमने जिन पेड़ों के नाम लिए हैं, उन हर पेड़ो से निकलने वाली गोंद का अपनी अपनी जगह अलग ही महत्व है , जैसा की आप को हम विस्तार से बताने जा रहे हैं ,हम जानते हैं की हमारा मुख्य विषय है की गोंद के लड्डू कैसे बनाए , तो हम इस रिसीपी को अपने इस ब्लॉग में आगे बताएंगे , उस से पहले जरूरी है की आप को गोंद के बार में दे दी जाए … जो की आगे इस प्प्रप्र से है …….

बबूल की गोंद के फायदे

बबूल के पेड़ का गोंद खाने में सब से ज्यादा स्वादिष्ट होता है तभी इसे सब से ज्यादा पसंद किया जाता है

इस का ज्यादा उपयोग अंग्रेजी और आयुर्वेदिक दवाओं में भी किया जाता है ,

इस का उपयोग खास कर के सर्दियों में ही ज्यादा किया जाता है क्यों की इसे गरम पदार्थों में गिना जाता है …!!!

आम की गोंद के फायदे

ठंडियों में आम की गोंद का सेवन करने से सर्दी खासी जैसी बीमारियां दूर रहती हैं, ये आप की इम्यूनिटी सिस्टम को भी मजबूत करता है,

इसे आप कड़ाही में तेल के साथ फ्राई कर के खा सकते हैं जिस से की आप के दांतों में चिपके ना, या फिर आप इसके गोंद के लड्डू बनाकर स्टोर कर ले और रोज एक लड्डू खा लिया करें …!!

नीम के गोंद के फायदे

नीम के गोंद का सेवन करने से हमारा रक्त पतला होता है और हमारे शरीर में तेजी से प्रवाह होता है ,और जब रक्त पतला होता है तो जाहिर सी बात है कि शुगर डायबिटीज जैसी बीमारियां भी हमसे दूर रहेंगी, नीम के गोंद का सेवन लगभग(१ तोला) रोज़ करने से हमार पेट में कभी कीड़े जिन्हे हम (केंचुआ) भी कहते हैं वो नस्ट हो जाते है और हमारा पेट बिल्कल साफ रहता है और भूख भी खुल कर लगती है..!!

पीपल की गोंद खाने के फायदे

जैसा की आप जानते ही हैं की पीपल का पेड़ हमारे हिंदू धर्म में कितना पूज्यनीय होता है ,लोग इस की पूजा भी करते हैं,उसी प्रकार पीपल से निकलने वाली गोंद भी हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी है..!

आधा चम्मच शक्कर के साथ इसकी गोंद का 1 तोला मिलाकर खाने से शरीर की सारी थकावट दूर हो जाती है और शरीर में फिर से ताजगी और स्फूर्ति का अहसास जागृत हो जाता है..!!

पलाश ( ढाक ) का गोंद खाने के फायदे

पलाश के गोंद में कैल्शियम काफी मात्रा में पाया जाता है जानकी हमारी हड्डियों के लिए फायदे मंद भी माना जाता है, पलाश का गोंद २ ग्राम और मिश्री मिलाकर दूध के साथ सेवन करने से हमारे शरीर में शुक्रानियों के साथ वीर्य की भी बृद्धि होती है…!!!

ये तो थी गोंद से होने वाले फायदों के बारे में जानकारी

अब हम आते हैं अपने आज के मुख्य विषय पर जो की गोंद के लड्डू की रिसीपी पर आधारित है …!

  • गोंद के लड्डू बनाने की रिसीपी में लगने वाली सामग्री
  1. 250 ग्राम देसी घी
  2. 100 ग्राम गोंद
  3. 50 ग्राम बादाम
  4. 50 ग्राम काजू
  5. 50 ग्राम किशमिश
  6. 50 ग्राम मखाना
  7. 50 ग्राम नारियल का बुरादा
  8. 500 ग्राम आंटा

गोंद के लड्डू बनाने की विधी

सब से पहले हम गैस को ऑन कर लेते हैं, उस पर एक कड़ाही रख कर गरम कर लेते हैं, कड़ाही गरम हो चुकी है तो हम कड़ाही में 2 बड़ा चम्मच घी डाल कर गरम कर लेते हैं, हमारा घी अब अच्छी तरह से गरम हो चुका है तो सब से पहले हम इस में 100 ग्राम जो गोंद हैं उसको थोड़ा थोड़ा कर के फ्राई कर लेते हैं ध्यान रहे की गोंद को थोड़ा थोड़ा ही कर के फ्राई करे तभी ये फूल कर अच्छे से पकेंगी

इस प्रकार से हम सारी गोंद बारी बारी से फ्राई कर लेंगे और निकल कर किसी बर्तन में रख लेंगे, अब उसी घी में हम 50ग्राम काजू और 50ग्राम बादाम को डाल कर फ्राई कर लेंगे ध्यान रहे की काजू बहुत जल्द ही जलने लगती हैं तो हमे लो फ्लेम ही रखनी है और 2 मिनिट के बाद काजू बादाम को घी से छान कर बाहर निकाल लेते हैं…।।

फिर इस प्रकार हम मखाना को भी फ्राई कर लेंगे और शायद तब तक आप का घी भी कड़ाही से खतम हो जायेगा , एक बार फिर से कड़ाही में घी डालेंगे 2 चम्मच और घी के ग इनरम हो जाने पर हम उस में नारियल का बुरादा डाल कर सुनहरे रंग का होने तक भूनेंगे इस पक्रिया के होने में लगभग 5 से 7 मिनिट लग सकते है , एक बार फिर मैं जैसा की हर बार कहता हूं की गैस की फ्लेम हमेशा हमे धीमा ही रखना है,

अब हमने सभी ड्राई फूड को फ्राई कर लिया है दोस्तो ड्राइफाइड का इस्तेमाल आप बताए गए मात्रा से ज्यादा भी कर सकते हैं , ये गोंद के लड्डू हमने लो बजट में ही तैयार करने की कोशिश की है …।।

अब जिस बर्तन में हैं गोंद के टुकड़ों को फ्राई कर के रखा है उस में हम फ्राई किए हुए मखानों को भी डाल देते है ओर दोनो को किसी तरह से हाथों का सहारा लेकर क्रश कर के दरबार कर लेते हैं

अब हम इनमे भुने हुए नारियल के बुरादा और किशमिश को भी मिक्स कर लेते हैं, चलिए अब फटाफट एक मिक्सी में काजू बादाम को डाल कर हल्का सा दरबरा कर लेते हैं , हमे ज्यादा देर मिक्सी को नहीं चलाना है सिर्फ दरबरा ही करना है

हमारे काजू बादाम भी दरबरे ग्राइंड हो चुके हैं तो हम इन्हें भी बाकी के ड्राई फूड के साथ मिक्स कर लेते हैं अब हमारे सारे ड्राई फूड एक साथ मिक्स हो चुके हैं,तो अब हम इन्हें एक साइड कर के रख देते हैं, और आगे के प्रोसेस के लिए बढ़ते हैं..

अब सब से पहले हम फिर गैस को ऑन कर के उस पर एक कड़ाही रख कर गरम कर लेते हैं, कड़ाही के गरम हो जाने पर हम उस में 2 चम्मच घी डाल कर गरम करेंगे, हमारा घी अब गरम हो चुका है , तो अब इसमें हम 500ग्राम आटा डाल कर धीमी आंच पर अच्छे से भून लेंगे , ध्यान रहे की गोंद के लड्डू में सबसे अहम भूमिका है आटे की इस लिए हम कोई जल्द बाजी नही करेंगे, फ्लेम को हमे धीमा ही रखना है नहीं तो आटका कलर चेंज तो हो जायेगा ,और हमे देखने में भी लगेगा की आटा अच्छे से भून चुका है ,लेकिन आटे का कच्चा पन जरूर रहेगा तो इस लिए हम आटे को भुनने में कोई जल्दबाजी नहीं करेंगे,जैसे की आप फोटो में देख सकते हैं

आप देख सकते हैं की हमारा आटा अच्छी तरह से भून चुका है,तो अब फटाफट हम आटे को कड़ाही से निकाल कर किसी बर्तन में रख लेते हैं, और कड़ाही को साफ कर के फिर से गैस पर रखते हैं कड़ाही हमारी गरम हो चुकी है ,तो अब हम इस में 300 ग्राम गुड़ डाल कर इस की चाशनी तैयार करेंगे, इस में थोड़ा सा पानी डालकर चाशनी बनायेगे गैस की फ्लेम लो ही रखनी है

हमारी चाशनी भी तैयार हो चुकी है जैसा कि आप फोटो में देख सकते हैं, तो अब हम गुड़ की चाशनी, भने हुए आटे, और मिक्स किए हुए सारे ड्राइफुड, और बचे हुए घी को मिक्स कर लेंगे , चाशनी अगर गरम हो तो मिक्स करने के लिए हम किसी कड़छी का प्रयोग कर लेंगे और सभी चीजों को हम अच्छे से मिक्स कर लेंगे ,जैसा की आप फोटो में देख सकते हैं

तो हमारी सारी सामग्रियां अच्छे से मिक्स हो चुकी हैं, चलिए तो अब हम फटाफट इनके लडडू बना लेते है, इनको हम थोड़ा उठाकर हाथ की गद्दी में रख लेंगे ( जितनी बड़ी लड्डू की साइज आप को रखनी हो उस हिसाब से ) अब इन्हें हाथों के इशारे से गोल गोल आकार में बना कर किसी बर्तन में रखते जायेंगे कुछ इस प्रकार से

और इसी प्रकार से सारे लडडू हमे बना लेने हैं , हमारे सारे गोंद के लड्डू बन चुके हैं तो अब इन्हें हम किसी कांच की बरनी में रख कर स्टोर कर लेते हैं ,और इस में से निकाल कर रोज खा सकते हैं, इन्हें आप ,15 दिन तक यूज कर सकते हैं, बाद में जरूरत पड़े तो आप फिर गोंद के लड्डू इसी विधी के अनुसार बना ले …।।

Desemler

हमारे इस ब्लॉग में दी गई जानकारी को केवल एक सुझाव के रूप में ले , इनका सेवन करने से पहले किसी जानकार या डॉक्टर की सलाह अवश्य ही लें , उनके दिए गए निर्देशों के अनुसार ही इन सभी चीजों का सेवन करें…

धन्यवाद

20 thoughts on “गोंद के लड्डू । Gond ke laddu । गोंद के लड्डू खाने के इतने फायदे की जान कर आप भी हो जायेंगे हैरान । गोंद के लड्डू बनाने की रिसीपी ।। New recipe 2022 ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.